कंप्यूटर मेमोरी क्या होती है और यह कितने प्रकार की होती है .

By | April 2, 2020

जैसे मनुष्य के अंदर मस्तिक होता है , तब जाकर वह किसी काम को समझ बूझ कर कर सकने में सक्षम होता है .

वैसे ही कंप्यूटर की भी अपनी एक मेमोरी यानी कि मस्तिष्क होती है , जिससे वह हमारे द्वारा दिए गए कमांड को समझ सकता है .

कंप्यूटर मेमोरी क्या होती है और यह कितने प्रकार की होती है .

आज के इस मॉडल जमाने में लोग कंप्यूटर और स्मार्टफोन का प्रयोग तो करते हैं ,परंतु इन सभी चीजों के बारे में पूरी तरीके से जानकारी नहीं रखते वह केवल इन इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को फिल्में देखने के लिए या फिर सोशल मीडिया अकाउंट , गेमिंग आदि के लिए प्रयोग करते हैं .

हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि कंप्यूटर के अंदर मेमोरी क्यों होती है और यह कितने प्रकार की होती है .

कंप्यूटर मेमोरी क्या है ?

हम जब भी कंप्यूटर को किसी प्रकार का आदेश देते हैं या फिर उसमें कोई डॉक्यूमेंट सेव करते हैं ,तो इस स्थिति में कंप्यूटर मेमोरी ही कार्य करती है .

आपने देखा होगा जब कभी आपके कंप्यूटर के बैटरी अचानक से खत्म हो जाती है और आपका कंप्यूटर स्विच ऑफ हो जाता है .

फिर जब आप कंप्यूटर को चार्ज करके चालू करते हैं तो आपने जो भी डाटा सेव कर रखा होता है या फिर जिस भी विंडो पर आप काम कर रहे होते हैं .

वह दोबारा से उसी जगह से चलना शुरू हो जाता है . जिस भी स्थिति में आपका कंप्यूटर स्विच ऑफ रहा होगा . इन सभी को केवल मेमोरी के माध्यम से ही चलाया जा सकता है .

मेमोरी आपके द्वारा दिए गए आदेश और आपके द्वारा सेव किए गए डाक्यूमेंट्स को सेव करके रखती है .

मेमोरी को हम दूसरी भाषा में स्टोरेज डिवाइस के नाम से जानते हैं . जैसे मनुष्य बिना मस्तिष्क के किसी काम का नहीं होता , वैसे ही कंप्यूटर भी बिना मेमोरी के आपके किसी भी प्रयोग में नहीं लाया जा सकता है

कंप्यूटर के अंदर कितने प्रकार की मेमोरी होती है ?

कंप्यूटर के अंदर मुख्यतः तीन प्रकार की मेमोरी होती है , जो इस प्रकार निम्नलिखित है .

1 . primary memory

2 . secondary memory

3 . Cache memory

ध्यान दें :- कंप्यूटर में मौजूद रैम और रोम को हम प्राइमरी मेमोरी के नाम से भी जानते हैं . यदि आप डेक्सटॉप यूज़ करते हैं , तो आप अपने डेक्सटॉप का रैम और रोम दोनों बढ़ा सकते हैं . आपका कंप्यूटर बिना रैम और रोम के निष्क्रिय होता हैं .

Leave a Reply