रिज्यूम क्या होता है || रिज्यूम कैसे बनाते हैं ?

रिज्यूम क्या होता है:- हर किसी का सपना होता है कि वह अपने जीवन में एक अच्छी नौकरी प्राप्त कर सके। जिसके लिए वह अच्छे से अच्छे कॉलेज से डिग्री प्राप्त करता है।

इसके अतिरिक्त अन्य स्किल को भी सीखता है ताकि जब उसे साक्षात्कार में सवाल किया जाए तो वह अच्छे से जवाब दे सकें।

इसके बाद भी यदि किसी युवा को नौकरी प्राप्त नहीं होती है तो वह अपने को कमजोर समझता है परंतु यह कारण नहीं होता है इसका मुख्य कारण होता है कि आपके द्वारा तैयार किया हुआ रिज्यूम जो आपके पूरे साक्षात्कार के दौरान आपको प्रस्तुत करता है।

आपका रिज्यूम जितना ज्यादा प्रभावशाली तथा संगत पूर्ण होगा उससे आपको नौकरी पाने में आसानी होगी इस लेख में हम आपको रिज्यूम कैसे बनाते हैं तथा इसके महत्व को बताएंगे।

रिज्यूम क्या होता है

रिज्यूम एक फ्रांसीसी शब्द है जिसका अर्थ होता है सारांश। इसका सबसे पहले उपयोग 15 वी शताब्दी में किया गया था।

रिज्यूम को हम इस तरह से परिभाषित कर सकते हैं कि हमारे द्वारा प्राप्त शैक्षणिक योग्यता तथा प्रमाणपत्रों का एक संगठित तथा एकत्रित डाटा को ही रिज्यूम कहते हैं। रिज्यूम आपके बैकग्राउंड, कौशल तथा अन्य प्राप्त किए हुए प्रमाण पत्र को दर्शाता है कि आप इस नौकरी के लिए कितने योग्य है

रिज्यूम का महत्व

  • वैसे तो ये मुकाम नौकरी पाने में अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान होता है।
  • रिज्यूम के माध्यम से आपके कार्य अनुभव का पता चलता है।
  • इसी के माध्यम से आपको कितने सम्मान तथा इनाम प्राप्त हुए उसके बारे में जानकारी प्राप्त होती है।
  • रिज्यूम के ही माध्यम से आप की शैक्षणिक योग्यता तथा कार्य कुशलता के बारे में पता चलता है।
  • इसी के माध्यम से आपका साक्षात्कार में सिलेक्शन हो पाता है।
  • यह आपके गुणों तथा व्यक्तित्व को दर्शाता है।

रिज्यूम बनाने का फॉर्मेट

रिज्यूम बनाने के लिए इसके फॉर्मेट को समझना अति आवश्यक है रिज्यूम बनाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए जो इस प्रकार है:-

  • संपर्क की जानकारी
  • करियर ऑब्जेक्टिव
  • वर्क एक्सपीरियंस
  • शैक्षणिक योग्यता
  • कौशल तथा रुचि
  • अतिरिक्त कोर्स

रिज्यूम कैसे बनाते हैं

  • सबसे पहले आप अपनी जानकारी दें तथा उसमें आप अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर आदि की जानकारी दें।
  • इसमें आपको अपने करियर से संबंधित टारगेट को दर्शाने की आवश्यकता होगी।
  • उसके बाद आपको एकेडमिक क्वालीफिकेशन अथवा शैक्षणिक योग्यता के बारे में प्रमुख जानकारी देनी होगी।
  • यदि आपने शैक्षणिक योग्यता के साथ-साथ अन्य किसी कौशल में प्रमाण पत्र प्राप्त किए हैं तो उसे भी यह डाल सकते हैं।
  • रिज्यूम बनाते वक्त किसी प्रकार की स्पेलिंग मिस्टेक नहीं होना चाहिए।
  • इसमें आपको पब्लिकेशन तथा प्रेजेंटेशन की जानकारी देनी होगी।
  • आपको अपने रिज्यूम में आपके द्वारा किसी संस्था अथवा रिसर्च का कार्य किया है तो आप अपना कार्य अनुभव डालते हैं।
  • अंत में आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपका अंग्रेजी में दो पेज से ज्यादा का नहीं होना चाहिए।

इस तरह से आप अपना एक शानदार रिज्यूम बना सकते हैं जो आपको नौकरी प्राप्त करने में सहायक होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *