NSA क्या है ? NSA कब लगाया जाता है? NSA से जुड़ी संपूर्ण जानकारी

By | June 24, 2021

NSA क्या है? NSA कब लगाया जाता है? NSA से जुड़ी संपूर्ण जानकारी – आज इस आर्टिकल में हम एक बहुत गंभीर विषय पर चर्चा करने जा रहे हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपको NSA के बारे में बताएंगे। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे NSA क्या है? NSA कब लगाया जाता है? अगर आप NSA के बारे में जानना चाहते हैं आर्टिकल को आखरी तक पूरा पढ़िए। इस आर्टिकल में आपको NSA से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताई गई है।

जब भी हमारे देश में कोई दंगा होता है या फिर कोई बड़ी घटना होती है उस समय NSA शब्द बहुत ज्यादा चर्चा में आ जाता है। अगर आप उत्तर प्रदेश के स्थाई नागरिक हैं तो आपको NSA शब्द लगभग प्रतिदिन सुनने को मिल जाता होगा। न्यूज़ के माध्यम से भी हमेशा NSA शब्द को प्रसारित किया जाता है। ऐसे में जो लोग NSA के बारे में नहीं जानते उन्हें बहुत ज्यादा कन्फ्यूजन होती है। कई बार लोगों ने हमें भी कमेंट करके बोला है कि NSA के ऊपर एक विधिवत जानकारी दीजिए। आपकी इसी समस्या को हल करने के लिए आज इस आर्टिकल में हम आपको NSA के ऊपर एक विस्तृत लेख लेकर आए हैं।

देश के नागरिकों की रक्षा हेतु देश में शांति बनाए रखने हेतु देश में अपराधों पर नियंत्रण लगाने के लिए ढेर सारे कानून लागू किए गए हैं। इन्हीं में से एक मुख्य कानून NSA है। NSA अन्य सभी कानून से कहीं गुना ज्यादा खतरनाक है। एक तरह से कहा जाए तो जिस व्यक्ति के ऊपर NSA मामले में केस दर्ज हो जाता है उस व्यक्ति की पूरी जिंदगी बर्बाद हो जाती है।

NSA क्या है ? NSA कब लगाया जाता है? NSA से जुड़ी संपूर्ण जानकारी

तो आइए अब आपका ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए आपको बताते हैं NSA क्या है? NSA का फुल फॉर्म राष्ट्रीय सुरक्षा कानून है। इसे हम अंग्रेजी में नेशनल सिक्योरिटी एक्ट कहते हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पहली बार कांग्रेस शासनकाल में 23 सितंबर 1980 को लागू किया गया था। देश में इंदिरा गांधी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लागू किया था।

जब कोई व्यक्ति देश की सुरक्षा या संपत्ति के साथ छेड़छाड़ करता है उस स्थिति में उस व्यक्ति के ऊपर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाया जाता है। यदि आप सरकारी नौकरी करने वाले किसी भी व्यक्ति सेना पुलिस डॉक्टर राहत बचाव दल इत्यादि के ऊपर हमला करते हैं या उन्हें नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं तो भी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत केस दर्ज किया जाता है।

कई बार देश में हिंदू मुस्लिम दंगे हो जाते हैं। इन दंगों में बस, चौकी, थाना, सरकारी कार्यालय, बिल्डिंग, ट्रांसपोर्ट इत्यादि को जला दिया जाता है या उन पर तोड़फोड़ की जाती है। इस परिस्थिति में भी अपराधियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत एक्शन लिया जाता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा कानून अन्य कानून की अपेक्षा थोड़ा ज्यादा खतरनाक और समस्या पैदा करने वाला होता है। जिस व्यक्ति के ऊपर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया जाता है उसे बिना किसी सबूत के 10 दिन तक की पुलिस रिमांड पर लिया जाता है। इसी के साथ साथ में जिस व्यक्ति के ऊपर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाया जाता है उसे 12 महीने की निश्चित जेल काटनी पड़ती है।

यदि आपके ऊपर किसी अन्य धारा में मुकदमा दर्ज हुआ है तो आप अपना वकील कर सकते हैं और जमानत ले सकते हैं। लेकिन जिस व्यक्ति के ऊपर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया जाता है वह व्यक्ति ना ही वकील कर सकता है और ना 12 महीने तक जमानत ले सकता है। एक तरह से कहा जाए तो जिस व्यक्ति के ऊपर NSA कानून लगा है उस व्यक्ति को 12 महीने के लिए हर हाल में जेल जाना पड़ेगा।

राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पर केस कौन दर्ज करता है

अन्य किसी मामलों में चौकी थाने की पुलिस केस दर्ज कर देती है। लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पर कुछ विशेष लोगों को केस दर्ज करने की अनुमति है। राष्ट्रीय सुरक्षा कानून में केंद्र सरकार या राज्य सरकार या जिले का जिला अधिकारी मुकदमा दर्ज कर सकता है।

निष्कर्ष

यह आज आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून क्या है? राष्ट्रीय सुरक्षा कानून कब लागू किया गया? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। इन आर्टिकल को आखरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।