परीक्षा की तैयारी के लिए जबरदस्त नोट्स कैसे तैयार करें?

By | March 18, 2021

किसी भी प्रकार की परीक्षा में सफलता पाने में नोट्स सबसे अहम भूमिका निभाते हैं। कोई भी छात्र जब नोट्स बनाता है तो उसे ऐसे शब्दों में बनाता है ताकि वो उसे अच्छी तरह से समझ सके। खुद का लिखा हुआ नोट्स अच्छी तरह से याद हो जाता है क्योंकि नोट्स बनाते समय आप उसे कहीं से देखकर या पढ़कर लिखते हैं, फिर लिखते समय पढ़ते हैं और बाद में उसको दोबारा पढ़कर दुहराते हैं। इससे आप उस टॉपिक के बारे में अच्छी तरह से जानकारी रख पाते हैं।

किसी भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते समय नोट्स सबसे महत्वपूर्ण है। हालांकि कई कोचिंग संस्थान खुद के नोट्स प्रोवाइड कराते हैं लेकिन खुद का लिखा हुआ नोट्स सबसे कारगर होता है।

ऐसे बनाएँ परीक्षा की तैयारी हेतु जबरदस्त नोट्स

किसी भी परीक्षा की तैयारी में नोट्स का अहम योगदान होता है। अगर आपके पास नोट्स नहीं है तो आप शायद उस परीक्षा में सफल नहीं हो सकते हैं। नीचे हम आपको बताने जा रहे हैं कि किसी परीक्षा की तैयारी के लिए जबरदस्त नोट्स तैयार करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

शॉर्ट और सीमित नोट्स बनाएँ

नोट्स बनाते समय इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि आप उसमें जो लिखें वो ज्यादा लंबा न हो और उतना ही लिखें जितना जरूरत हो क्योंकि अगर आप नोट्स में कम लिखेंगे तो आपको उसे पढ़ने में आसानी होगी। क्योंकि किताबों में अच्छी तरह से समझा कर लिखा गया होता है और वो लंबा होता है। हमारा दिमाग उतना बड़ा उत्तर अच्छी तरह से नहीं याद कर सकता है, इसीलिए हमेशा नोट्स बनाने को वरीयता दी जाती है।

पढ़ाई शुरू करने के तुरंत बाद नोट्स बनाना शुरू कर दें, क्लास या कोचिंग क्लास में टीचर्स जो भी पढ़ाएं उसको तुरंत नोट करें। नोट्स को लिखने के बाद उसे तुरंत रिवाइज कर लें ताकि वह टॉपिक आपको अच्छी तरह से याद रहे।

इम्पॉर्टेंट टॉपिक को क्रम से नोट करें

टीचर्स द्वारा जो भी टॉपिक पढ़ाया जाता है उसे क्रम से नोट करें ताकि उसे खोजने और पढ़ने में आसानी हो। नोट्स को हफ्ते में एक बार पूरा दोहराए, ताकि जब भी परीक्षा नजदीक हो आप नोट्स पढ़ें तो आपको कोई भी टॉपिक नया न लगे।

महत्वपूर्ण जानकारी को जरूर नोट करें

कई बार जब आप कोई किताब पढ़ रहे होते हैं तो उसमें कुछ खास जानकारी दी गई होती है जो आपके परीक्षा में काम आ सकती है तो उसे जरूर नोट करें। इसके अलावा जब टीचर्स क्लास में कोई इम्पॉर्टेंट बात बताते हैं तो उसे भी अपने नोट्स में जरूर लिखें क्योंकि वो आपके परीक्षा के दृष्टिकोण से जरूरी होता है।

नोट्स में सरल भाषा का प्रयोग करें

नोट्स हमेशा इसलिए तैयार किया जाता है ताकि आप उसे सरल भाषा में लिख सकें, ताकि आप उसको जब भी पढ़ने बैठें तो आसानी से समझ आ सकें। अगर आप नोट्स को भी लंबा बनाएँगे तो किताब तैयार हो जाएगी और पढ़ने में ऊबन महसूस होगी। इसीलिए आप नोट्स को हमेशा सरल भाषा में लिखें और किताबों से अलग शब्दों में लिखें जो आपको समझ में आ सके।

नोट्स को एक जगह एकत्रित करें

अक्सर लोगों द्वारा नोट्स अलग-अलग पेपर्स में बनाया जाता है, इसके बाद उसे स्टेपल करते हैं। ऐसे नोट्स अक्सर फटकर बेकार हो जाते हैं। उन्हें सही से रखना मुश्किल हो जाता है। इसलिए नोट्स को हमेशा किसी नोटबुक या डायरी पर तैयार करें ताकि आपके सभी नोट एक जगह इकट्ठे रह सकें और उसे पढ़ने में आसानी हो।

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफल हो चुके छात्र अक्सर खुद के लिखे हुए नोट्स को पढ़ने की सलाह देते हैं क्योंकि जब आप किसी टॉपिक पर नोट्स तैयार करने बैठते हैं तो उस टॉपिक को आप 3 बार दुहरा लें, जिससे जब आप दोबारा उस टॉपिक एक रिवीजन करने बैठेंगे तो सभी चीजें आपके दिमाग में खुद बखुद आने लगेंगी। परीक्षा हॉल में बैठने के बाद उस टॉपिक के प्रश्नों में आपको कतई दिक्कत नहीं होगी।