जानिए कैसे बनता है TAN Card, क्या हैं इसके उपयोग

By | October 30, 2021

जानिए कैसे बनता है TAN Card, क्या हैं इसके उपयोग – दोस्तों जब हम अपनी नौकरी की शुरुआत करते हैं, तो सबसे पहले यही सवाल मन में आता है कि जितनी सैलरी हमें मिलेगी, उसमें टैक्स कितना कटेगा। हर कोई यही चाहता है कि उसका टैक्स कम से कम कटे। टैक्स पेयर होने के लिए सबसे जरूरी है कि आपके पास PAN कार्ड होना चाहिए। पैन कार्ड का इस्तेमाल भी सभी लोग जानते होंगें। लेकिन क्या आपने ये सोचा है कि आप जिस संस्था में काम करते हैं, वह आपका टैक्स किस तरह से काटती है और वह टैक्स काटने के लिए उस संस्था के पास सबसे जरूरी चीज क्या होनी चाहिए।

अगर आपको नहीं पता है, तो हम बताते हैं कि जिस तरह से हम और आप टैक्स भरने के लिए पैन कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। उसी तरह से होता है TAN कार्ड। टैन नंबर के जरिए ही कोई संस्था या कंपनी आपका टैक्स काटती है। टैन कार्ड भी इनकम टैक्स विभाग की ओर से ही जारी किया जाता है। जिसमें कुछ नंबर आपको मिल जाते हैं।

क्या होता है TAN का पूरा नाम और कहां होती है जरूरत

TAN का पूरा नाम होता है- Tax Deduction and Collection Account Number। इसे इनकम टैक्स विभाग की ओर से ही जारी किया जाता है। आपको बता दें कि टैन कार्ड का इस्तेमाल कई जगह पर किया जाता है। इसका इस्तेमाल टीडीएस या टीसीएस दाखिल करने, टीडीएस या टीसीएस भुगतान के चालान के लिए, टीडीएस या टीसीएस से जुड़े सर्टिफिकेट में और साथ ही एनुअल इनफॉर्मेशन रिटर्न के अलावा जहां-जहां आपसे टैन नंबर मांगा गया हो।

Read More – कौन होता है Internet Marketer, क्या होती हैं इसकी खूबियां

कौन बनवा सकता है TAN Card

टैन कार्ड बनवाने के लिए कुछ जरूरी नियम व शर्ते हैं। इसे आम आदमी नहीं बनवा सकता है। इसके लिए आवेदन कर्ता के पास सरकार की अनुमति होना जरूरी है। केंद्र, राज्य या प्रशासनिक अधिकार वाली संस्थाएं टैन कार्ड बनवा सकती हैं। इसके अलावा वैधानिक या स्वायत्तता अधिकारी वाली संस्था, कंपनी एक्ट के तहत स्थापित संस्था, व्यक्तिगत या एचयूएफ बिजनेस के लिए और रजिस्टर्ड फर्म या एसोसिएशन के लिए मान्य संस्थाएं टैन कार्ड बनवा सकती हैं।

कैसे करें ऑनलाइन अप्लाई

टैन कार्ड बनवाने के लिए कुछ नियम हैं, जिन्हें फॉलो करके आप अपना टैन कार्ड हासिल कर सकते हैं। वह नियम इस तरह से हैं-

  • आपको सबसे पहले NSDL की वेबसाइट पर जाना होगा। जहां आपको Online Application for TAN (Form 49B) पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको Apply For New TAN केटेगरी सेलेक्ट करनी है। इस पर आप तब जाएंगे, जब आपके पास डिजिटल सिगनेचर नहीं हो। वहीं अगर आपके पास डिजिटल सिगनेचर हैं, तो आप Apply For New TAN (for DSC user) पर जाकर अपनी कैटेगरी सेलेक्ट कर लेंगे।
  • इसके बाद आपके सामने टैन कार्ड फॉर्म खुलकर आएगा, जिसे आपको सही तरह से भरना होगा।
  • फॉर्म भरने के बाद अंत में पेमेंट का ऑप्शन आएगा। जिसकी फीस 65 रुपए है। इसे आप चेक, डिमांड ड्राफ्ट या फिर नेट बैंकिंग के जरिए भी दे सकते हैं। इतना करने के बाद आपका टैन फॉर्म सबमिट हो जाएगा।
  • फॉर्म पूरी तरह से सबमिट होने के बाद आपके सामने एक ऑनलाइन रसीद आ जाएगी। जिसे आप अपने पास कहीं भी सेव कर लें।
  • आप इस रसीद का प्रिंट भी ले सकते हैं, क्योंकि इसमें आपके सिगनेचर की भी जरूरत होगी।
  • इतनी प्रक्रिया करने के बाद आप ये रसीद और आवेदन पत्र एक लिफाफे में बंद कर NSDL के ऑफिस में भेज दें। इस लिफाफे पर आपको बड़े अक्षरों में APPLICATION FOR TAN लिखना होगा और साथ ही अपना रसीद नंबर भी लिखना होगा।
  • आप इस बात की जानकारी भी जरूर करते रहें कि यह लिफाफा 15 दिनों के अंदर ही एनएसडीएल ऑफिस पहुंच जाए। इसके लिए आप कॉल सेंटर पर फोन कर पता कर सकते हैं, जिसका नंबर 020-27318080 है। साथ ही आप NSDLTAN Acknowledgement no. लिखकर 57575 पर एसएमएस भी भेज सकते हैं, जिससे आपको जानकारी मिलती रहेगी।

टैन कार्ड बनवाने के लिए जरूरी दस्तावेज

टैन कार्ड बनवाने के लिए आपको बस एक फॉर्म की जरूरत होती है, जिसे हम Application Form 49B कहते हैं। इसके अलावा आपको अपना कोई भी अन्य दस्तावेज नहीं देना होता है। वहीं अगर आपके नाम पर पहले से ही कोई टैन नंबर जारी है, तो आपको पहले उसे सरेंडर करना होगा, तभी आप नए टैन नंबर के लिए अप्लाई कर सकते हैं।